मेरा प्रिय खेल पर निबंध | Mera Priya Khel (हिंदी आर्टिकल 2022)

Mera Priya Khel : आज का हमारा यह आर्टिकल मेरा प्रिय खेल (My Favorite Sport) नामक शीर्षक पर लिखा गया है। आने वाली प्रतियोगी परीक्षा के लिए यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक रहा है तथा हमारे पाठ्यक्रम से जुड़ी परीक्षाओं में भी यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक  है। मेरा प्रिय खेल क्रिकेट (Mera Priya Khel)  के संबंध में हमने यह निबंध लिखा है।

मेरा प्रिय खेल पर निबंध 2022 (Mera Priya Khel Essay in Hindi)

प्रस्तावना - खेल खेलना सभी को पसंद होता है। बच्चे , बड़े, बूढ़े अपने पसंदीदा खेल खेलने के लिए उत्सुक रहते हैं। हर किसी का अपना एक पसंदीदा खेल होता है। जिसमें किसी को कबड्डी खेलना, किसी को बैडमिंटन खेलना, तथा किसी को क्रिकेट इत्यादि खेलना पसंद होता है। खेल खेलने से हमारे शरीर में चुस्ती बनी रहती है तथा हम शारीरिक तथा मानसिक रूप से स्वस्थ रहते हैं। मेरा प्रिय खेल (Mera Priya Khel) क्रिकेट है। क्रिकेट खेलना हमें बहुत पसंद है। यह एक आउटडोर गेम है। इसे लगभग हर गली मोहल्ले में बच्चों द्वारा खेला जाता है।

अन्य लेख :- वसंत ऋतू पर निबंध 

क्रिकेट क्या होता है ? (What is Cricket)

क्रिकेट घर के बाहर खेला जाने वाला खेल है। इस खेल को लेकर युवाओं तथा बच्चों और बूढ़ों में काफी उत्साह देखने को मिलता है। यह खेल दो टीमों के मध्य खेला जाता है। हमारे गली कूचों में अक्सर बच्चे इसे खेला करते हैं। इस खेल का निर्धारण खिलाड़ियों द्वारा बनाए गए अधिक रन के अनुसार तय किया जाता है, तथा इसके अपने नियम है। क्रिकेट के खेल से हमारा मनोरंजन तो होता ही है साथ ही साथ हमारा स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। क्रिकेट को एक शाही खेल माना जाता है। यह खेल ‌खुले मैदान में  गेंद और बल्ले की सहायता से खेला जाता है। टीवी में भी हम क्रिकेट को देखते हैं । इसमें अधिक प्रचलित क्रिकेट हैं- वनडे टेस्ट मैच और टी सीरीज। यह दो देशों के मध्य भी खेले जाते हैं।  भारत , इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया  पाकिस्तान, अफगानिस्तान और अफ्रीका इत्यादि देशों का यह लोकप्रिय खेल है। 

Mera Priya Khel Hindi Essay 2022

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट की भूमिका

क्रिकेट नामक खेल का शुरुआत करने वाला प्रथम देश ब्रिटेन (Britain) है। भारत में इस खेल की शुरुआत तब हुई थी जब हम अंग्रेजों के गुलाम हुआ करते थे। तभी इंग्लैंड से रहने वाले जो निवासी भारत में आए थे उन्होंने अपने मनोरंजन के लिए यह खेल खेलना प्रारंभ किया था। परंतु स्वतंत्रता मिलने के बाद भारत वासियों में भी क्रिकेट को लेकर काफी उत्साह देखने को मिला।  आजकल हर एक गली, मोहल्ले में बच्चे क्रिकेट को लेकर उत्साहित होते हैं , तथा इस खेल में अपना  बेहतर प्रदर्शन देते हैं।

जानें, क्रिकेट कैसे खेलते हैं ? (How to Play Cricket in Hindi)

क्रिकेट एक रोमांचित करने वाला और उत्साहवर्धक खेल होता है। इस खेल को लेकर खिलाड़ी ही नहीं बल्कि दर्शकों को भी ऐसा प्रतीत होता है जैसे वह स्वयं ही खिलाड़ी बन गए हो, अर्थात दर्शकों में भी इसका बहुत अधिक उत्साह देखने को मिलता है। क्रिकेट दो टीमों के बीच खेला जाने वाला खेल है। जिसके प्रत्येक टीम में 11 -11 खिलाड़ी मौजूद रहते हैं। क्रिकेट खेलने के लिए खुले मैदान की आवश्यकता होती है। जिसका व्यास 130 से 150 मीटर का होना अनिवार्य है। मैदान के बीचो बीच खेलने के लिए एक पिच बनाई जाती है। जिसके दोनों छोर पर तीन विकेट लगाए जाते हैं और विकेटों के मध्य की दूरी 22 गज होनी चाहिए।

खेल शुरू होने से पहले सिक्के उछालना यह तय करता है कि कौन सी टीम बल्लेबाजी करती हैं। जो भी टीम बैटिंग करेगी वह तब तक बल्लेबाजी करेंगे जब तक कि उसके संपूर्ण ओवर  खत्म न हो जाए या फिर उनके टीम के 11 में से 10 खिलाड़ी आउट ना हो जाए। क्रिकेट खेलते समय जो टीम खेल के दौरान अत्यधिक रन बनाती है, उसी टीम की विजय मानी जाती है। खेल के मैदान में खेल के मध्य कोई गड़बड़ी ना हो इसलिए दो अंपायर नियुक्त किए जाते हैं । अंपायर ही विशेष परिस्थितियों में इस खेल का निर्णय करते हैं। इस खेल के कई प्रकार होते हैं, जैसे- वनडे, T20 ,टेस्ट मैच और भी कई तरह से यह खेल खेला जाता है। हमारे भारत में  बारिश का होना, कम रोशनी होना,या किसी अप्रत्याशित घटना घट जाना इस खेल में अवरोध का काम करता है।

अन्य लेख :- गणतंत्र दिवस पर निबंध

क्रिकेट के प्रकार (Types of Cricket Match)

हमारा प्रिय खेल क्रिकेट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी बहुत प्रसिद्ध है। यह खेल हमेशा दो देशों के मध्य दो प्रांतों के मध्य खेला जाता है। टेस्ट मैच या एकदिवसीय मैच, t20 मैच यह सारे क्रिकेट खेल के ही विभिन्न रूप है। हमारे देश में भी कई प्रकार की ट्रॉफी खिलाड़ियों को दी जाती हैं। भारत में   रानी झांसी ट्रॉफी,  ईरानी ट्रॉफी, अब्दुल्लाह गोल्ड कप के नाम से क्रिकेट की कई प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है।  विजेता खिलाड़ियों को ट्रॉफीयो से नवाजा जाता है।

क्या है क्रिकेट खेल के नियम ? (Rules of Cricket Match in Hindi)

क्रिकेट खेलने के लिए दो टीमें बनाना आवश्यक है।

प्रत्येक टीम में 11- 11 खिलाड़ी मौजूद होने चाहिए।

जिस मैदान में खेल रहे हैं उसके बीचो बीच एक पिच होनी चाहिए तथा दोनों छोर पर तीन विकेट लगाए जाने चाहिए जिन के मध्य की दूरी 22 गज निर्धारित होगी।

गेंद का औसतन वजन साढ़े 5 ओस  होना चाहिए।

क्रिकेट खेलने वाले बल्ले की चौड़ाई 4125 इंच लंबाई 38 इंच होना अनिवार्य है।

इसके दोनों ओर तीन स्टंप लगाए जाते हैं जिसमें प्रत्येक की लंबाई 1 इंच होनी चाहिए।

खिलाड़ियों को फेंके जाने वाली गेंद एक ओवर में छह गेंद होती है। 

अगर खिलाड़ी बाउंस और वाइड गेंद फेंके तो बल्लेबाजी करने वाली टीम को 1 रन का फायदा होता है तथा एक अतिरिक्त गेंद खेलने का अवसर प्राप्त होता है।

मैच में धोनी लायक होते हैं एक टेरा एक मैदान के बाहर होता है और वही अंतिम निर्णायक होता है।

क्रिकेट खेलते समय गेंदबाजों के साथ जहां गेंदबाजी होती है वहां पर खड़ा रहता है तथा दूसरा अंपायर बल्लेबाजों के साथ बल्लेबाजी के स्थान पर उपस्थित होता है।

अंपायर प्रत्येक ओवर में अपना स्थान परिवर्तित करते रहते हैं।

बल्लेबाजों द्वारा बल्ले से मारी गई गीतों को यदि कोई खिलाड़ी हवा में ही गेंद को पकड़ लेता है तो बल्लेबाज खेल से बाहर माना जाता है।

जब बल्लेबाज अपनी क्रीज में मौजूद नहीं होता है तब गेंदबाजी करने वाली टीम स्टंप पर गेंद मार दे तो बल्लेबाज रन आउट माना जाता है इस स्थिति में भी खिलाड़ी खेल से बाहर होगा।

यदि किसी टीम का एक बल्लेबाज आउट होता है और दूसरा बल्लेबाज 2 मिनट के अंदर मैदान में नहीं उतरता तो इस प्रकार टीम को टाइम आउट किया जाता है।

यदि किसी टीम द्वारा गेंद से विकेट पर हिट होता है, और विकेट गिर जाता है तो वह खिलाड़ी बोल्ड माना जाता है।

बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ी के बल्ले से या उसके शरीर से स्टंप गिर जाए। तो उसे हिट विकेट का नाम दिया जाता है और बल्लेबाज खेल से बाहर हो जाता है।

एक बल्लेबाज अपने विकेट को सुरक्षित रखने के लिए खेल में गेंद पकड़ने के लिए अपने हाथ का इस्तेमाल नहीं कर सकता है।

खेल में कभी ऐसी स्थिति भी आ जाती है की ओवर में बल्लेबाज एक भी रन नहीं ले पाता तो इस स्थिति में ओवर को मेडन ओवर का नाम दिया जाता है।

भारत के प्रसिद्ध खिलाड़ी (Greatest Indian Cricketers of All Time in Hindi)

क्रिकेट के खेल में कुछ प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ियों का नाम स्वर्णिम अक्षरों में इतिहास में दर्ज किया जा चुका है। जिसमें से कुछ खिलाड़ी हैं - सुनील गावस्कर , सचिन तेंदुलकर, कपिल देव, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग, अनिल कुंबले, गौतम गंभीर, हरभजन सिंह, विजय हजारे, आशीष नेहरा, इरफान पठान, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, जैसे महान भारतीय क्रिकेटर हमारे भारत के प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ी हैं।

हमारा प्रिय खेल क्रिकेट है। क्रिकेट बाहर खेला जाने वाला खेल है। क्रिकेट खेलने से शारीरिक और मानसिक दोनों विकास संभव है। क्रिकेट खेलने से खिलाड़ियों के मध्य अनुशासन और परस्पर सद्भाव की भावना भी बनी रहती है। यह खेल बच्चों में एकाग्रता लाता है तथा एक दूसरे के साथ घुलमिल कर रहने में काफी सहायक है। क्रिकेट मनोरंजन जगत का एक अभिन्न अंग है। जो बच्चे बूढ़े और बड़े सभी को पसंद होता है।

उपसंहार

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच होने पर भी क्रिकेट प्रेमी अपने घर में रखे टेलीविजन या मोबाइल फोन से लग कर बैठ जाते हैं तथा जब तक खेल का निर्णय ना हो जाए उन्हें खेल रोमांचित करता है।

निष्कर्ष

मेरा प्रिय खेल एक ऐसा विषय है जिसमें समान्यत: निबंध लिखने को कहा जाता है। अतः Mera Priya Khel पर निबंध कैसे लिखें इस विषय में हमारी पोस्ट पर कोई सुझाव आपके सवाल हो तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। अगर हमारी जानकारी मददगार हो तो अपने दोस्तों के साथ में शेयर करें।

Post a Comment

1 Comments